बोधगया में प्राकृतिक आपदाओं से बचाने और विश्व शांति के लिए पूजा शुरू

धर्मशाला : बौद्ध धर्मावलंबियों के प्रसिद्ध तीर्थस्थल बोधगया में विश्व को प्राकृतिक आपदाओं से बचाने और विश्व शांति के लिए  ‘काग्यू मोनलम पूजा’ शुरू की गई। यह अनुष्ठान तीन जनवरी तक चलेगा।
महाबोधि मंदिर परिसर में आयोजित इस पूजा का नेतृत्व 17वें करमापा थाये त्रिनले दोरजी कर रहे हैं, जिसमें नेपाल, भूटान, तिब्बत, भारत, स्पेन और पोलैंड सहित कई देशों के लामा, भिक्षु और भिक्षुणी भाग ले रहे हैं।

पूजा के पहले दिन तिब्बती तांत्रिक ग्रंथ मंजू श्री का पाठ किया गया। गौरतलब है कि मंजू श्री में ऐश्वर्य, स्वास्थ्य, और मनोरथ पूर्ति से सम्बंधित मंत्रों का संकलन है।
पूजा आयोजन समिति के सचिव टी़ खंपा ने मंगलवार को बताया कि इस पूजा में विश्व के 40 देशों के श्रद्घालु और लामा पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि 30 दिसम्बर को काग्यू पंथ के नौ सौ वर्ष पूरे होने के मौके पर विशेष समारोह का आयोजन किया गया है।

इस अनुष्ठान में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तथा राज्यपाल देवानंद कुंवर के भी भाग लेने की संभावना है।
खंपा ने बताया कि पूजा के पहले दिन विश्व को प्राकृतिक आपदाओं से बचाने के लिए करमापा द्वारा महाकाल की भी पूजा की गई। पूजा आयोजन स्थल पर सैकड़ों तोरमा सजा कर रखा गया हैं जिन्हें पूजा के अंतिम दिन प्रसाद स्वरूप बांटा जाएगा।

Munish Dixit writes from Baijnath, Kangra district.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.